Geeta Phogat Biography Dangal movies Real Story Hindi Wiki

Geeta Phogat Biography Dangal movies Real Story Hindi Wiki

Geeta Phogat Biography Dangal movies Real Story Hindi Wiki. Aap logon ko Geeta Phogat ke bare me pata hi hoga. Movie Me Poori Details ke sath nahi bataya gaya hai. Isliye aaj aap logon ke liye post likh raha hun. Jise maine TV shows Interviews se Dekh kar likha hai. Aapko ek baar Geeta Phogat ki Biography read jarur karni chahiye. Jisase Aapko apni Life me Insapratation milegi. Aur aapk Ek achchhi life ji sakte hain.

Geeta Phogat Biography

Gold Medal Winner Geeta Phogat का जन्म 15dec 1988 में हुआ था | इनके गाँव का नाम है बिलाली | जो की हरियाणा में स्थित है | इनके पिता का नाम महावीर सिंह फोगत है | और माता का नाम दया कौर है | गीता फोगत की चार चार बहन हैं | जिनका नाम है बबिता ऋतू और संगीता कौर | इस biography में हम ये नहीं कह सकते की इनको बचपन से पहलवानी में रूचि थी | ओलंपिक commen wealth गेम में गोल्ड मैडल जितने वाली प्रथम भारतीय महिला है | Geeta Phogat ऐसे ह्गंव से है जहाँ बेटी पैदा होना अभिशाप मन जाता था | वहां लड़कियों को स्कूल जाना भी मन था | सब को बीटा व्हाहिये था |

"<yoastmark

वहां का जैसा रीती रिवाज और सोंच था | वैसा ही सोंच गीता के माता पिता का भी था | उनको भी बीटा ही चाहिए था | Geeta Phogat के पिता का सपना था की वो भारत देश के लिए गोल्ड मैडल जीतें | पर कुछ आर्थिक समस्याओं के कारण | वे अपने मंजिल तक नहीं पहुँच सकें | इसलिए वो एक बेटा चाहते थे | जो उनके सपनो को पूरा कर सके | इसी जिद में वे 4 बेटियों के पापा बन गए | अतः उन्हें अपनी गलतियों का एहसास हो गया | और समझ गए बेटा और बेटी में कोई फर्क नहीं होता है | अगर बेटा नाम रौशन कर सकता है तो बेटी क्यों नहिओ कर सकती है |

गीता फोगत History

जिस गाँव में स्कूल जाने तक की मनाही थी वहां | गीता और बबिता पहलवानी किया करते थे | जैसे जैसे गाँव वालों को पता चला | वे महावीरसिंह फोगत को समझाने लगे | और पूरा गाँव उनके खिलाप हो गया था | लोगों का मानना था की महावीर सिंह फोगत अपनी बेटी को बिगड़ रहे हैं | लोग उनको डराने लगे थे | बेटियां बदनाम हो रही है | इनसे शादी कौन करेगा कर के | पर महावीरसिंह फोगत ने बिना किसी की परवाह किये अपना काम करते गए |

क्योंकि उनके आँखों के सामने एक बड़ा सपना था | और जब किसी साथ उसका सपना होता है | तो रस्ते में आनेवाली साडी बातें छोटी लगने लगती है | जब इरादा नेक होता है तो मंजिल की प्यास ज्यादा हो जाती है | लोग अपने बच्चों को गीता और बबिता के साथ बात करने के लिए मना करने लगे थे | और महावीर सिंह जी को उलटा सीधा बोलना स्टार्ट कर दिया था | वे अपनी बेटियों को आगे बाधा कर लोगों की सोंच को बदलना चाहते थे | उस गाँव के लोग आज जरुर गर्व महसूस करते होंगे की गीता और बबिता उनके यहाँ से हैं |

Movie Vs Reality

दंगल मूवी तो आप लोगों ने देखि हो होगी | but आपको बता है | उस फिल्म में क्या क्या चंगेस किया गया है | जो Reallity में हुआ ही नहीं था | ये बात मई आपको बताने जा रहा हूँ |

  1. मूवी में दिखाया गया है की महावीर सिंह जी को बेटा चाहिए था | जबकि उनकी पत्नी को बेटे की चाहत थी |
  2. दंगल मूवी में कोच को negative carrector में बताया गया है | जो की पूरी तरह से कल्पनिच्क है |
  3. फिल्म में बताया गया है की | Geeta Phogat ने पहले कभी कोई तूनामेंट्स नहीं जीता है | पर २००९ Commenwealth Games में गोल्ड मैडल जित चुकी थी |
  4. फिल्म में जो लास्ट सीन का मैच | बहुत ही संगर्ष पूर्ण दिखाया गया है | वो सही नहीं है जबकि Reallity में गीता ने बहुत ही Easily वो मैच जीता था |
  5. फाइनल मैच में geeta Phogat के पिता को एक कमरे में बंद कर दिया जाता है | जबकि Reallity में महावीर सिंह  फोगत ने वो मैच stadium में बैठ कर देखा था |

"<yoastmark

ये पञ्च बातें जो फिल्म में बदल दी गयी थी | ताकि फिल्म Intreasting बन सके | but ये बहुत ही छोटी बातें है | जो एक मूवी के नजरियये से चलटा है |

Dangal Movie Dilogs

Dangal Movies ko khas kar Ladkiyon ko Motivate karne ke liye banaya gaya hai. Aur Is Films me Bahut hi Amazing Dilogs hain. Jo shayad aapko Apni Life Motivate karne ke liye. Apne Life me Utar sakte hain.

  • Agar silver jeeti toh aaj nahi toh kal log tanne bhool javenge … gold jeeti toh misaal ban javegi … aur misaalein di jaati hai beta, bhooli nahi jaati.
  • Medalist pedh pe nahi ughte … unhe banana padta hai … pyar se, mehnat se, lagan se.
  • Gold toh gold hota hai … chhora lave ya chhori.
  • Bahut ho gayi pehalwani … ab dangal hoga.
  • Apni matti ki hamesha izzat karna … kyun ki jitni izzat tum matti ki karogi … utni hi izzat matti se tumhe milegi.
  • Sirf body banane se koi pehalwan nahi ban jaata … pehalwani joh hai na, woh khoon mein hoti hai.
  • Kehne ko toh ek round sirf do minute ka hota hai … par socha jaave toh do minute mein 120 second hote hai … us ek second ka intezar kar jab samne wala galati kare.
  • Dangal ladne se pehle dar se ladna padta hai.
  • Medal laane ke liye support koi na deta … par medal na mile toh gaali sab dete hai.

Geeta Phogat Biography Dangal movies Real Story Hindi Wiki

Geeta Phogat Biography Dangal movies Real Story Hindi Wiki
0

Editor Rating

Share ItShare on Facebook0Share on Google+0Tweet about this on TwitterShare on LinkedIn0Pin on Pinterest4Share on Tumblr1